Pramila

प्रमिला (30 December 1916 – 6 August 2006) “मिस इंडिया” बनने वाली पहली महिला थीं। फ़ेमिना ने पहली मिस इंडिया प्रतियोगिता 1947 में आयोजित की थी उस समय ये ख़िताब लगभग “पॉपुलर फेस कांटेस्ट” जैसा हुआ करता था। उस समय की मैगजीन्स के कवर पर अपने फैशन सेंस और ख़ूबसूरती की वजह से एक ही अभिनेत्री छाई रहती थीं, वो थी प्रमिला इसीलिए उन्हें मिला पहली “मिस इंडिया” का ख़िताब।

प्रमिला”class=

पहली “मिस इंडिया” प्रमिला का शुरूआती जीवन 

बग़दादी ज्यूइश अभिनेत्री – एस्थर विक्टोरिया एब्राहिम, जिन्हें सिनेमा की दुनिया में प्रमिला के नाम से जाना जाता था। जब उन्होंने मिस इंडिया का ख़िताब जीता था उनकी उम्र थी 31 साल और वो अपने पांचवें बच्चे को जन्म देने वाली थीं लेकिन उनकी कशिश उनकी ख़ूबसूरती में कहीं कोई कमी नहीं थी। रयूबेन इब्राहिम अपने समय के बहुत बड़े बिज़नेस मैन थे अपनी पहली पत्नी की मौत के बाद उन्होंने मतिल्दा नाम की एक महिला से शादी की। इस शादी से उन्हें 6 संतान हुई जिनमें सबसे बड़ी थीं एस्थर वही बनी पहली “मिस इंडिया”, वो प्रतिभावान होने के साथ-साथ बहुत ज़िद्दी भी थीं, जो चाहती वही करतीं।

स्पोर्ट्स, ड्राइंग सभी में अव्वल, हॉकी में उन्होंने कई ट्रॉफीज़ जीती थीं। अपनी हाई स्कूल की डिग्री पूरी होने के साथ-साथ उन्होंने किंडरगार्टन में भी पढ़ाया। वो इतनी चार्मिंग थीं कि बच्चे हमेशा उनके आस-पास घूमते रहते थे। उन्होंने बी-एड की डिग्री भी ली थी मगर टीचिंग को अपना प्रोफेशन नहीं बनाया। 17 साल की थीं तभी कोलकाता छोड़कर मुंबई आ गईं और एक थिएटर कंपनी में काम करने लगीं। उनका काम था प्रोजेक्टर पर रील बदलने के दौरान जो ब्रेक आता था उसमें अपने डांस से दर्शकों का मनोरंजन करना। 

प्रमिला का फ़िल्मी सफ़र 

एस्थर की कजिन रोज़ एज़रा मुंबई में एक्टिंग करती थीं। एक दिन जब एस्थर उनसे मिलने गईं तो उस वक़्त रोज़ एक फिल्म का ऑडिशन दे रही थीं, जब निर्देशक R. S. चौधरी ने लम्बी ख़ूबसूरत एस्थर को देखा तो उन्होंने उनका भी ऑडिशन लिया जिसमें वो पास हो गईं। इसी के साथ एस्थर अर्देशिर ईरानी की इम्पीरिअल फ़िल्म कंपनी की आर्टिस्ट बन गईं। वो फ़िल्म तो नहीं बनी पर कोल्हापुर सिनेटोन की 1935 में आई फ़िल्म “भिखारन” से उन्हें एक वैम्प के तौर पर पहचान मिली और फ़िल्मों के लिए एक नया नाम भी मिला-प्रमिला, जो बाबूराव पेंढारकर ने उन्हें दिया। 

उसके बाद “महामाया(1936)”, “हमारी बेटियां” / OUR डार्लिंग DAUGHTERS(36), “मदर इंडिया(38)”, “बिजली(39)”, “हुकुम का इक्का(39)”, “जंगल किंग(39 /59)”, “सरदार(40)”, “कंचन(41) – जिसका निर्देशन लीला चिटनिस ने किया था, “सहेली(42)”, “शालीमार(46)-शोरी फिल्म्स”, “उलटी गंगा(42)”, “बड़े नवाब साहेब(44)-सिल्वर फ़िल्म्स”, “आप बीती(48)”, “हमारी बेटी(50) धुन(53), “मजबूरी(54)” “छोटी बहन(54)”, “बहाना(60)” “मुराद(61)” और 2006 में आई “थांग”- जिसका निर्देशन अमोल पालेकर ने किया था, उनकी कुछ प्रमुख फिल्में थीं। ज़्यादातर फिल्मों में पहली “मिस इंडिया” प्रमिला अक्सर खलनायिका के किरदार में नज़र आती थीं। 

प्रमिला प्रोफेशनली और पर्सनली हमेशा एक चर्चित अभिनेत्री रहीं। खलनायक फ़िल्म में माधुरी दीक्षित पर फ़िल्माया गाना “चोली के पीछे क्या है” जब आया था तो बहुत बवाल मचा था। मगर इसी से मिलते-जुलते बोल वाला गाना सालों पहले प्रमिला पर फिल्माया गया था जिसे लिखा था गीतकार डी एन मधोक ने।

प्रमिला शुरू से ही फ़िल्म और फैशन वर्ल्ड की सेंसेशनल पर्सनेलिटी थीं, अपने कपडे डिज़ाइन करने से लेकर बनाने तक का काम वो खुद किया करती थीं। वो A J पटेल की पसंदीदा मॉडल थीं और अपने वक़्त में इतनी पॉपुलर थीं कि उन्हें हॉलीवुड फ़िल्मों के ऑफर्स भी आए पर उन्हीं दिनों विश्व युद्ध शुरू हो जाने से ये संभव नहीं हो पाया। वर्ना शायद पहली मिस इंडिया बनने के साथ-साथ प्रमिला हॉलीवुड में कामयाबी पाने वाली भी पहली अभिनेत्री बन जाती ।

प्रमिला की निजी ज़िंदगी 

प्रमिला ने पहली शादी बहुत कम उम्र में एक थिएटर पर्सनेलिटी से की थी उनसे एक बेटा हुआ मगर इस शादी को उनके माता-पिता ने तोड़ दिया। फिर 1939 में उन्होंने दूसरी शादी की अभिनेता सैयद हसन अली ज़ैदी से जिनका स्क्रीन नेम था कुमार। कुमार पहले से शादी शुदा थे और उनकी बीवी बच्चे लखनऊ में रहते थे। मुंबई में कुमार और प्रमिला शाही ज़िंदगी जीते थे, पार्टीज़, होटल्स, डांस, हॉर्स रेस, फ़ास्ट कार, ये सब उनके रूटीन का हिस्सा थे। उनके चार बच्चे हुए अकबर, असग़र, नाक़ी और हैदर। जब उन्हें पहली मिस इंडिया का खिताब मिला उस वक़्त वो अपनी अंतिम संतान को जन्म देने वाली थीं ।

1942 में कुमार और प्रमिला ने ‘सिल्वर फ़िल्म्स’ के नाम से अपनी एक फिल्म प्रोडक्शन कंपनी भी खोली और लगभग 16 फिल्में बनाईं। विभाजन के बाद कुमार अपने पहले परिवार के साथ पाकिस्तान चले गए मगर प्रमिला ने उनके साथ जाने से मना कर दिया और वो अपने बच्चों के साथ मुंबई में ही रहीं लेकिन उस वक़्त उन पर बहुत क़र्ज़ था। उन्हें बच्चों को पालने के साथ-साथ अपनी प्रॉपर्टी को वापस पाने के लिए भी लम्बी लड़ाई लड़नी पड़ी मगर उन्होंने हार नहीं मानी और जीतीं।

उनके सिर्फ़ एक बेटे हैदर फ़िल्मों से जुड़े हैं, उनकी बेटी नाक़ी अपने समय की पॉपुलर मॉडल थीं और उन्होंने भी मिस इंडिया का ख़िताब जीता था। इस तरह देखें तो ये इकलौती माँ-बेटी हैं जिन्होंने मिस इंडिया का ख़िताब पाया। 2006 में प्रदर्शित अमोल पालेकर की फ़िल्म थांग में प्रमिला ने अपना आख़िरी रोल निभाया “दादी माँ” का। 6 अगस्त 2006 को वो इस दुनिया को अलविदा कह गईं। 

गुज़रे ज़माने की कई ऐसी गुमनाम हस्तियां हैं जिनका फ़िल्म इतिहास में बड़ा रोल रहा है। प्रमिला उनमें से एक थीं, अपने स्टाइल फैशन सेंस और पहली मिस इंडिया के तौर पर वो हमेशा याद की जाती रहेंगी।  

बॉलीवुड की पहली “आइटम गर्ल” अज़ूरी 

अज़ूरी – बॉलीवुड की 1st “आइटम गर्ल”

अचला सचदेव 

By Neetu

Neetu Sharma is working in different fields of media for more than 21 years. Painter turned TV Host, Radio Jockey, Content Writer, and now YouTuber, and blogger.

Leave a Reply

Your email address will not be published.