Tag: History of Indian Cinema

लता मंगेशकर – 10 Lesser known Facts about Lata Mangeshkar

लता मंगेशकर दुनिया भर में वो अपनी मीठी सुरीली आवाज़ की वजह से जानी जाती रहीं। बल्कि कहना चाहिए लोग अचरज में रहे कि आख़िर उनकी सुरीली आवाज़ का राज़ क्या है…

गोविंदराव टेम्बे – मराठी फिल्मों के पहले संगीतकार

गोविंदराव टेम्बे मुख्य रूप से एक हारमोनियम प्लेयर थे, शास्त्रीय संगीत के उस्ताद, मगर जब उन्होंने सिनेमा में क़दम रखा तो म्यूज़िक कंपोज़ करने के साथ-साथ उन्होंने कई फ़िल्मों में डायलॉग्स और…

सुरेन्द्रनाथ – जिन्हें ग़रीबों का देवदास कहा जाता था

सुरेन्द्रनाथ उर्फ़ सुरेन्द्र सिर्फ़ एक उम्दा अभिनेता नहीं थे बल्कि एक बेहतरीन गायक भी थे, जिन्हें बॉम्बे फ़िल्म इंडस्ट्री का के एल सहगल कहा जाता था और ग़रीबों का देवदास भी,…

केशवराव भोले ने मेडिकल की पढ़ाई छोड़कर संगीत की दुनिया को अपनाया

केशवराव भोले पहले भारतीय संगीतकार थे जिन्होंने ऑर्केस्ट्रा की कम्पोज़िशन्स में कई नए प्रयोग किए। वहीं पियानो, हवाईयन गिटार, और वॉयलिन जैसे वेस्टर्न इंस्ट्रूमेंट्स को उन्होंने एक साथ एक अलग रूप में…

लीला चिटनीस लक्स के एड में नज़र आने वाली पहली भारतीय अभिनेत्री थीं

लीला चिटनीस का शुमार उस दौर में सिनेमा की पढ़ी-लिखी महिलाओं में होता है। उस समय के एक अखबार ने उनके बारे में छापा था कि वो महाराष्ट्र की पहली स्नातक महिला…

बॉम्बे टॉकीज़ – भारत का पहला कॉर्पोरेट स्टूडियो

बॉम्बे टॉकीज़ फ़िल्म इतिहास में सबसे अलग खड़ा दिखने वाला स्टूडियो | स्टूडियो एरा भारत में हर साल अलग-अलग भाषाओं की 1800 से ज़्यादा फिल्में बनती हैं, और उसी हिसाब से…

कानन देवी-1st लेडी ऑफ़ बंगाली सिनेमा 

कानन देवी (22 April 1916 – 17 July 1992) की याद में जिन्हें फर्स्ट लेडी ऑफ़ बंगाली सिनेमा और फर्स्ट मेलोडी क्वीन ऑफ़ इंडियन सिनेमा का ख़िताब दिया गया।  10 साल की एक…

G M दुर्रानी – अपने ज़माने के मोहम्मद रफ़ी

ग़ुलाम मुस्तफ़ा दुर्रानी जिन्हें सिने-प्रेमी G M दुर्रानी के नाम से जानते हैं, 40s और 50s की शुरुआत तक भी प्लेबैक सिंगिंग में छाए रहे। इंडस्ट्री में आने के कुछ ही सालों में…